Sonia Gandhi (सोनिया गांधी)

1
29

सोनिया गांधी जी का जन्म 9 दिसंबर 1946 में इटली में हुआ था उनका जन्म एक नैनो परिवार में हुआ था| जो कि एक रोमन कैथोलिक परिवार था उनके पिता जी का नाम स्टेफ़िनो मायनो था| जो एक व्यापारी थे सोनिया गांधी ने इटली में अपनी स्कूल की पढ़ाई की फिर साल 1964 में कॉलेजी एजुकेशन के लिए स्मॉल लैंग्वेज कॉलेज में एडमिशन लिया और उसी दौरान सोनिया गांधी कैंटीन में काम किया करती थी और उसी कैंटीन में भारत देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी से उनकी मुलाकात हुई | उस दौरान राजीव गांधी कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में ट्रेनिंग कॉलेज में अपनी पढ़ाई कर रहे थे राजीव गांधी जी से मिलने के बाद उन दोनों की दोस्ती हो गई करीब 3 साल बाद 1968 में राजीव गांधी जी और सोनिया गांधी जी ने भारतीय रीति-रिवाजों के साथ विवाह कर लिया |

भारत में आकर रहने लगी जहां वे अपने साथ और भारत की पहली प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी के साथ रहते थे | शादी के बाद उनका नाम भारत आकर सोनिया गांधी रख दिया गया साल 1970 में राहुल गांधी और साल 1972 में प्रियंका गांधी को जन्म दिया वह दोनों की राजनीति में एक अच्छा कदम रख चुके हैं| राजीव गांधी वैसे तो पैसे से पायलट का कार्य किया करते थे जबकि सोनिया गांधी अपने घर परिवार की देखभाल किया करती थी साल 1980 में सोनिया गांधी जी के देवर यानी संजय गांधी की विमान दुर्घटना में मौत हो गई उसके बाद राजीव गांधी पर राजनीतिक दबाव डाला गया और उनकी सास इंदिरा गांधी जी की मौत 1984 में हो गई | जिसके बाद राजीव गांधी जी ने एक राजनीतिक फैसला लिया हालांकि सोनिया गांधी अभी भी अपने परिवार की देखभाल कर रही थी और वे यह राजनीति यों से काफी ज्यादा दूर थी और उनके परिवार यानी राजीव गांधी द्वारा सोनिया गांधी पर राजनीति में शामिल होने का कोई जोर दबाव नहीं डाला गया था|

सोनिआ गाँधी जी का राजनैतिक करियर की शुरुआत-

• 1997 में, सोनिया गांधी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में प्राथमिक सदस्य के रूप में चुनी गईं।
• 1998 में, सोनिया गांधी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की नेता बनीं।
• 1999 में, सोनिया गांधी उत्तर प्रदेश अमेठी और कर्नाटक के बेल्लारी से लोकसभा चुनाव लड़ा और परिणामस्वरूप दोनों ही सीटों पर जीत दर्ज की।
• 1999 में, सोनिया गांधी 13 वीं लोकसभा में विपक्ष की नेता चुनी गईं।
• 2004 लोकसभा चुनावों में, उन्होंने उत्तर प्रदेश की रायबरेली लोकसभा सीट पर जीत दर्ज की।
• 16 मई 2004 को, उन्हें संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) के नाम पर सरकार का नेता चुना गया।
• 2006 में, सोनिया गांधी उत्तर प्रदेश के रायबरेली निर्वाचन क्षेत्र से फिर से निर्वाचित हुईं।
• 2009 के लोकसभा चुनाव में, सोनिया गांधी तीसरे कार्यकाल के लिए रायबरेली निर्वाचन क्षेत्र से फिर से निर्वाचित     हुई।
• 2014 लोकसभा चुनाव में, सोनिया गांधी रायबरेली लोकसभा सीट से चौथे कार्यकाल के लिए पुनः जीत दर्ज की।

सोनिया गांधी की उपलब्धियां कई गुना ज्यादा है |कांग्रेस में शामिल होने के बाद सिर्फ 62 दिन के अंदर वह कांग्रेस के अध्यक्ष बने उसके बाद 1999 में लोकसभा चुनाव में अमेठी और कर्नाटक की बल्ले री दोनों सीटों पर जीत दर्ज की उसके बाद 2003 में एक विपक्षी नेता के रूप में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दिया और धीरे-धीरे अपने इस राजनैतिक कैरियर को आगे बढ़ाया सोनिया गांधी जी के द्वारा किए गए कार्यों से उन्होंने आम जनता के साथ साथ कई सारे लोगों को अपनी तरफ आकर्षित किया साल 2004 में उन्हें विश्व की सबसे ताकतवर महिला होने के रूप में बस मैगजीन में शामिल किया गया साल 2006 में सम्राट लियोपोल्ड से सम्मानित किया गया साल 2007 और 2008 में टाइम मैगजीन द्वारा विश्व के 100 सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली लोगों में उनका नाम शामिल किया गया साल 2009 में उन्हें मैगजीन द्वारा विश्व की सबसे ज्यादा शक्तिशाली महिला की सूची में शामिल किया गया जिसके कारण वह देश का गौरव हमेशा से बनी रहे |

सोनिया गांधी जी द्वारा लिखी गई दो किताबें भी है जिसमें से ट्रू अलोन और टू फ्रूट टुगेदर सबसे ज्यादा लोकप्रिय रही है|

विदेशी मूल की होते हुए भी सोनिया गांधी ने भारतीय राजनीति में अपना एक्का जमाया और अध्यक्ष के रूप में कांग्रेस पार्टी को एक नई दिशा दी |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here