Ravindra Jadeja Biography in hindi (रवींद्र जडेजा)

0
177

 

मिल सके आसानी से उसकी ख्वाहिश किसे है जिद तो उसकी है जो मुकद्दर में लिखा ही नहीं दोस्तों आज मैं बात करने जा रहा हूं भारतीय क्रिकेट टीम के एक अद्भुत ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा की जो आज के समय में भारतीय क्रिकेट टीम के एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और इतना ही नहीं उन्होंने अपने जादुई गेंदबाज़ी से आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर कब्जा जमा रखा है दोस्तों भारत में क्रिकेट के खेल को दोस्तों भारत में क्रिकेट के खेल को लेकर जितना पागलपन है वह किसी भी दूसरे खेल को लेकर नहीं है मेरे ख्याल से यह भी कहना कुछ ज्यादा नहीं होगा कि भारत में क्रिकेट को लोग धर्म का दर्जा देते हैं और लोग इस खेल से अपनी निजी भावनाओं को जोड़कर रखते हैं इन सभी बातों से आपको अंदाजा तो हो ही गया होगा कि 125 करोड़ की आबादी वाले इस देश में अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए क्रिकेट खेलना कोई छोटी बात नहीं है और वह भी एक गरीब घर के लड़के के लिए तो यह असंभव सा लगता है लेकिन रविंद्र जडेजा ने अपने जुनून लगन और परिवार के सपोर्ट से असंभव को भी संभव कर दिखाया है तो चलिए दोस्तों बिना आपका समय खराब किए।

हम रविंद्र जडेजा को थोड़ा करीब से जानते हैं और उनके जीवन से कुछ प्रेरणादायक बातों को सीखने की कोशिश करते हैं रविंद्र जडेजा का जन्म 6 दिसंबर 1988 को गुजरात के जामनगर जिले के 9 ग्राम गढ़ नाम की जगह पर हुआ था उनके पिता का नाम अनिरुद्ध सिंह जडेजा था जो अपने परिवार का गुजारा करने के लिए एक प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी में चौकीदार का काम करते थे रविंद्र की मां का नाम लता था जो एक हाउसवाइफ थी और घर की परिस्थितियां खराब होने के बावजूद पूरे परिवार की देख देख बहुत ही प्रभावशाली ढंग से करती थी जडेजा के अलावा उनकी दो बहने नैना और पद्मिनी भी हैं दोस्तों जडेजा को क्रिकेट का शौक तो बचपन से ही है लेकिन भारत में बहुत ही आम बात है क्योंकि हर गली में सैकड़ों बच्चे क्रिकेट खेलते दिखाई दे ही जाएंगे लेकिन खास बात यह है कि इतनी गरीबी में जिंदगी गुजारने के बाद भी जडेजा के माता-पिता ने उनका तक सीमित नहीं रहने दिया और घर की परिस्थितियां अच्छी ना होने के बावजूद उन्होंने जडेजा को क्रिकेट सिखाने के लिए क्रिकेट एकेडमी ज्वाइन करवाया भारत में सबसे बड़ा जाता है अगर आपने अपना समय दे दिया तो पढ़ाई की तरफ से ध्यान तो हक नहीं है और अगर पढ़ाई से आपका ध्यान हटा और क्रिकेट की जोरदार कंपटीशन में भी फेल हो गए।
तो ज्यादातर चांस होते हैं पूरी लाइफ खराब हो जाए इसीलिए बहुत ही कम पेरेंट्स होंगे अपने बच्चों का कैरियर क्रिकेटर के तौर पर देखते होंगे लेकिन जडेजा के माता-पिता उन लोगों में से अपने बच्चे की पैशन पर पूरा भरोसा था जडेजा की मां का सपना था कि उनका बेटा भारत के नेशनल क्रिकेट टीम के लिए खेलें लेकिन दुर्भाग्य से 2005 में एक्सीडेंट के दौरान उनकी मां इस दुनिया को छोड़ कर चली गई और इस घटना से यहां तक कि मां के इस दुनिया में रहने का जडेजा को इतना हो गया था उन्होंने क्रिकेट को छोड़ने का फैसला कर लिया लेकिन कुछ दिनों तक दुख ही रहने के बाद फिर से उन्होंने अपने आप को संभाला और अपनी मां के सपने को पूरा करने के लिए जी जान से जुट गए जडेजा की कुछ बताते हैं कि जडेजा शुरू से ही सबसे पहले प्रैक्टिस के लिए आते थे और सभी के जाने के बाद जाते थे उनका कहना था कि उनकी लगन और परिश्रम को देखकर मैं तो मैं तो शोर था कि जडेजा नेशनल टीम के लिए एक दिन जरूर खेलेगा आखिरकार जडेजा की लगन और प्रैक्टिस ने जल्दी अपना जलवा दिखाया और
2005 के दौरान 16 साल की उम्र में उनका सिलेक्शन भारत के अंडर-19 क्रिकेट टीम में किया गया उसके बाद अगले साल श्रीलंका में होने जा रहे अंडर-19 विश्व कप के लिए उन्हें टीम में खिलाया गया और उस विश्वकप में भी उनका परफॉर्मेंस काफी अच्छा रहा 2008 में आईपीएल की ओपनिंग सेशन में जडेजा को राजस्थान रॉयल्स द्वारा चुना गया और जडेजा ने भी उनके चुनाव को सही साबित करते हुए जीत में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई आखिरकार उनका शानदार परफॉर्मेंस किसी से भी छुपा नहीं रहा और उनका सिलेक्शन भारत के नेशनल टीम में श्रीलंका में होने जा रहे वनडे सीरीज के लिए किया गया 8 फरवरी 2009 को उस सीरीज के फाइनल में उन्हें खेलने का मौका दिया गया जहां उन्होंने नाबाद 60 रनों की पारी खेली और इसी मैच के साथ उन्होंने अपनी मां का सपना साकार किया लेकिन उसी साल टी-20 में इंग्लैंड के खिलाफ अपनी धीमी पारी के लिए उन्हें लोगों से आलोचना बिजली और उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया लेकिन कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें सपोर्ट किया और फिर से मैच खेलने का मौका दिया।
और बस इसके बाद से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और गेंदबाजी और बल्लेबाजी में बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखते हुए टीम की एक महत्वपूर्ण बन गए दोस्तों अगर जडेजा की पर्सनल लाइफ की बात करें तो 17 अप्रैल 2016 को मेकेनिकल इंजीनियर बाबा सोलंकी से शादी की दोस्तों रविंद्र जडेजा ऐसे थे जहां पर क्रिकेट में कैरियर बनाने का सोचना भी बहुत बड़ी बात थी लेकिन उन्होंने अपने परिश्रम और सकारात्मक सोच से असंभव को भी संभव कर दिखाया ।

 जन्मतिथि-  6 दिसंबर 1988

 उम्र-  32 साल (2020 तक)

 जन्म स्थान-  गुजरात भारत

राशि चिन्ह-  धनु

 नागरिकता-  भारत

 होमटाउन-  जामनगर गुजरात

 परिवार-

 पिता का नाम-  अनिरुद्ध सिंह ( चौकीदार)

 माता-  स्वर्गीय लता जडेजा

 बहन-  नैना,  नयनाबा 

 धर्म-  हिंदू

 रुचि-   गाड़ी चलाना

 पॉलीटिकल पार्टी-  भारतीय जनता पार्टी

 क्या नहीं पसंद-  किसी का दिल तोड़ना

 रविंद्र जडेजा करियर से जुड़े हुए विवाद | Ravindra jadeja

रविंद्र जडेजा एक बार सुरेश रैना से लड़ते हुए नजर आए थे. सुरेश रैना और रवींद्र जडेजा की यह लड़ाई 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चल रहे एक मैच में हुई थी, जब रैना 2 बार लगातार जडेजा की गेंद पर एक कैच नहीं ले पाए.


साल 2014 में जब भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड के दौरे पर गई थी तब उस समय जेम्स एंडरसन के साथ रविंद्र जडेजा की मैदान के ऊपर बहस होती हुई नजर आई थी.

2019 के विश्वकप  के समय रविंद्र जडेजा संजय मांजरेकर से लड़ते हुए नजर आए थे, जब संजय मांजरेकर ने जडेजा को टुकड़ों  में खेलने वाला क्रिकेटर बोला था. रविंद्र जडेजा ने तब पलटकर ट्वीट के द्वारा संजय मांजरेकर को जवाब दिया था.

शादी के समय रविंद्र जडेजा दो बार तो विवाद में आए थे. एक बार जब मंडप में गन लहराते हुए कुछ लोग नजर आए थे. इसके साथ ही रविंद्र जडेजा एक बार तब और विवादों में आये थे जब शादी के बाद यह अपनी पत्नी के साथ शेरों की सफारी में गाड़ी से उतरकर फोटो खिंचवाते हुए दिखे थे.

पसंदीदा चीजें

 पसंदीदा क्रिकेटर-  महेंद्र सिंह धोनी

 पसंदीदा रंग-  काला और नीला

 पसंदीदा जगह-   लंदन

रविंद्र जडेजा का परिवार और फैमिली | Ravindra jadeja Family


रविंद्र जडेजा 17 अप्रैल 2016 को शादी कर चुके हैं. इनकी पत्नी का नाम रीवा सोलंकी है. 2017 में रविंद्र जडेजा के घर पर एक बच्ची का जन्म हुआ जिसका नाम Nidhyana रखा गया है.

रविंद्र जडेजा की सैलरी और संपत्ति | Ravindra Jadeja Salary and Income

रविंद्र जडेजा की सैलरी और संपत्ति की बात करें तो रविंद्र जडेजा का अभी बीसीसीआई के साथ जो कॉन्ट्रैक्ट चल रहा है उसमें यह ₹700000 हर टेस्ट मैच का ले रहे हैं.  जडेजा को ₹400000 एक वनडे मैच का मिल रहा है. साथ ही जडेजा ₹200000 एक T20 मैच के लिए लेते हैं.  2500000 रुपए सालाना रविंद्र जडेजा की रिटेनरशिप है. जडेजा की नेटवर्क की बात करें तो इनके पास लगभग 5 मिलियन डॉलर राशि है जो उनकी निजी संपत्ति बोली जा सकती है. 

प्रतियोगिता वनडे प्रथम श्रेणी क्रिकेट लिस्ट ए टी२०
मैच 30 27 37 36
रन बनाये 498 1,419 571 540
औसत बल्लेबाजी 35.57 38.35 40.78 22.50
शतक/अर्धशतक 0/4 3/6 0/4 0/0
उच्च स्कोर 61* 232* 70 42
गेंद किया 136 5,530 1,491 321
विकेट 26 75 37 11
औसत गेंदबाजी 41.80 28.65 30.21 33.45
एक पारी में 5 विकेट 0 5 0 0
मैच में 10 विकेट n/a 1 n/a n/a
श्रेष्ठ गेंदबाजी 4/32 7/31 4/28 3/15
कैच/स्टम्प 5/– 20/– 14/– 16

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here