Aamir Khan (आमिर खान)

0
21

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता, निर्माता और निर्देशक होने के साथ-साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता आमिर खान जी की आमिर खान जी को कौन नहीं जानता आमिर खान जी की 3 ईडियट्स फिल्म आज भी हजारों लाखों लोगों के दिलों में राज करती है आमिर खान ने हिंदी जगत को अतुल्य योगदान दिया है जिसके कारण से उन्हें 2003 में पद्मश्री और 2010 में पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया था यह अकेले सेक्टर हैं जो स्क्रिप्ट को पढ़ने के बाद पिक्चर को साइन करते हैं आइए जानते हैं इनकी जिंदगी के दिलचस्प सफर को-

आमिर खान जी का पूरा नाम मोहम्मद आमिर हुसैन खान है इनका जन्म 14 मार्च 1965 को मुंबई में हुआ था |आमिर खान जी के पिताजी का नाम ताहिर हुसैन खान है जो खुद भी एक फिल्म प्रड्यूसर और मशहूर निर्देशक के लिए जाने जाते हैं आमिर खान की माता जी का नाम जीनत हुसैन था| जो बनारस की रहने वाली थी पहले आमिर खान उत्तर प्रदेश के हरदोई में रहा करते थे उसके बाद आमिर खान के पिता भोपाल रहने के लिए आ गए और उनके साथ उनके दो भाई और दो बहन भी आ गए जिनमें से आमिर खान सबसे बड़े हैं आमिर खान जी क्या प्रारंभिक शिक्षा जेबी पेटीट से हुई उसके बाद वह आठवीं पास करके दूसरे स्कूल चले गए और हाईस्कूल की परीक्षा पास करने के बाद वह इंटरमीडिया की प्राइस करने का सोचा| इसके लिए उन्होंने नरसी मोहन जी कॉलेज में एडमिशन लिया लेकिन उनका मन फिल्मी दुनिया में ज्यादातर लगे रहने के कारण उनको अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ी आमिर खान को अपनी जिंदगी में कई सारी परेशानियों से गुजरना पड़ा उनके पिताजी एक प्रड्यूसर थे और उनकी कई कई फिल्में असफल रहने के कारण उन पर अच्छा खासा कर्ज हो गया | लेकिन उनके पिताजी ने हार नहीं मानी जब उनकी घर की आर्थिक स्थिति में जब सुधार आया तब उन्होंने एक पिक्चर में काम करने का सोचा आमिर खान जब से 16 साल के थे तब उन्होंने 40 मिनट की एक साइलेंट मूवी मैं काम किया|

इस फिल्में आमिर खान मुख्य किरदार को निभाते हुए दिखाई दिए थे और इस फिल्म का निर्देशन आमिर खान

के मित्र आदित्य भट्टाचार्य ने किया था उनके पिताजी एक प्रोड्यूसर थे| और वे जानते थे कि इस लाइन में बहुत ज्यादा परेशानी आती है और वह चाहते थे कि आमिर खान इस दुनिया से दूर रहे लेकिन आमिर खान को एक्टिंग करना और लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने में बहुत ही ज्यादा मजा आता था और उन्होंने फिल्मों में काम करने का निर्णय किया उनके पिता आमिर खान को पढ़ा लिखा कर एक अच्छा डॉक्टर बनाना चाहते थे लेकिन आमिर खान फिल्मों में जाने का निर्णय कर लिया था

इसके बाद आमिर खान की शादी कम उम्र में रीना दत्त के साथ हो गई थी अब अभिनय में ज्यादा रुचि लेने लगे और धीरे-धीरे पैसा कमाने लगे उसके बाद उन्होंने अवतार नाम का एक थिएटर ज्वाइन कर लिया जहां 1 साल तक लगातार उन्होंने वहां काम सीखा और गुजराती नाटकों में हिस्सा भी लिया उसके बाद आमिर खान को असिस्टेंट की भूमिका में रखा गया लेकिन उन्हें पर्दे में आने में अभी भी वक्त था उसके बाद उनके चाचा एनआरएस हुसैन खान की फिल्म यादों की बारात में एक बाल कलाकार का रोल मिला और वह हमेशा उसे प्रोत्साहित किया करते थे कि तुम्हें आगे चलकर एक बड़ा स्टार बनना है| उसके बाद जब वह सिर्फ 11 साल के थे तुमने दूसरी बात पर्दे में नजर आने का मौका मिला 1984 में आई फिल्म होली मैं उन्हें एक रोल मिला जिसमें शायद ही आप उन्हें पहचान पाए लेकिन उनकी असली कामयाबी 1988 में रिलीज हुई फिल्म कयामत से कयामत तक पूरे बॉक्स ऑफिस में अपनी धूम मचा दी उस फिल्म का एक गाना पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा लोगों द्वारा बहुत ही ज्यादा पसंद किया गया और फिर क्या उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की और पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा|

आमिर खान छोटे से छोटे और बड़े से बड़े शॉर्ट्स को बहुत ही ध्यान से किया करते थे | वह कॉमेडी एक्शन रोमांटिक के दम पर एक जबरदस्त स्थान को हासिल कर लिया 90 के दशक में आए उनकी सारी फिल्में लगातार हिट रहनेलगी और उसके बाद उनकी एक फिल्म आई जिसका नाम था राजा हिंदुस्तानी उन्होंने इस पर बेहद शिद्दत से कार्य किया और उनकी फिल्म का एक गाना परदेसी परदेसी जाना नहीं मुझे छोड़ के यह गाना आज तक लोगों के दुआ में आता रहता है जिसके लिए उन्हें फिल्म फेयर अवार्ड से भी नवाजा गया बीच में कुछ ऐसा समय आया है जब उनकी लगभग कई फिल्में फ्लॉप होती चली गई लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी और इसके बाद आमिर खान ने एक बहुत ही अच्छी वापसी की 2008 में आई गजनी, 2009 में आई 3इडियट, 2013 में आई धूम 3 और पीके जैसी मूवी को सर्वाधिक कमाई करने वाली पिक्चरों में शामिल किया गया|

इसके बाद आमिर खान ने बहुत सारे सामाजिक कार्य किए और स्टार प्लस पर एक टीवी शो भी आयोजित किया इसका नाम है सत्यमेव जयते जिसके माध्यम से उन्होंने लोगों को काफी अच्छा संदेश दिया आमिर खान को बचपन से ही राजनीति पसंद नहीं थी और वह इन पर टिप्पणी या नहीं करते थे अगर आप भी आमिर खान के फैन हैं तो कमेंट बॉक्स में मुझे जरूर बताइएगा कि आपको यह बायोग्राफी पढ़कर कैसा लगा|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here